लगातार घन्टों बैठने वालों को हृदय रोग की आशंका ज्यादा

दफ्तर या घर पर लगातार घन्टों बैठने या लेटने वालों को बीमारियों का खतरा ज्यादा होता है। ऐसे लोगों को हृदय रोग, डायबिटीज और कैंसर होने की आशंका बनी रहती है। यूनाइटेड किंगडम में हाल में प्रकाशित एक शोध में इस बात का खुलासा किया गया है। इसके अनुसार शारीरिक गतिविधियों को बढ़ाकर इस तरह की गंभीर स्थिति से बचा जा सकता है।

मौत का भी खतरा

क्वीन यूनिवर्सिटी, बेलफास्ट के इस शोध में पाया गया कि 6 घन्टे या उससे लंबे समय तक दिन में शारीरिक रूप से सक्रिय न रहने वालों का चिकित्सा खर्च काफी बढ़ जाता है। ऐसी स्थिति अकेले यूके में हजारों लोगों की मौत का कारण बन रही है। जर्नल ऑफ एपिडेमियोलॉजी एंड कम्युनिटी हेल्थ में प्रकाशित रिपोर्ट में शोध टीम का दावा है कि यूके में अगर लोग लंबे समय तक बैठने का अपना व्यवहार बदल देते तो 2016 में वहां हुईं 69,000 मौतों में से कम से कम 11.6 % मौत टाली जा सकती थीं। शोध के लेखक लियोनी हेरॉन कहते हैं कि लोगों की असक्रियता को लेकर कोई स्पष्ट दिशा-निर्देश नहीं है, फिर भी शारीरिक सक्रियता स्वास्थ्य के लिए काफी फायदेमंद है।

व्यायाम दिला सकता है राहत

बैठकर काम करने वालों को शरीर की सक्रियता बढ़ाने के लिए एक्सरसाइज का सहारा लेना चाहिए। इससे बीमारियां होने का खतरा तो दूर होता ही है, कई पुराने मर्ज भी अपने आप खत्म हो जाते हैं। नियमित एक्सरसाइज से मसल्स और हड्डियों को मजबूती मिलती है। इससे खुशी की भावना का विकास होता है और तनाव और डिप्रेशन से छुटकारा मिलता है। कम सक्रियता शरीर का वजन बढ़ा देती है, जबकि एक्सरसाइज करने से वजन घटता है। नियमित व्यायाम से शरीर की ऊर्जा का स्तर बना रहता है। इससे थकान का अनुभव नहीं होता है। याददाश्त बढ़ाने में भी एक्सरसाइज का महत्वपूर्ण योगदान होता है।

ये क्रियाएं भी अपनाएं

सुबह की सैर

दिनभर ज्यादा शारीरिक काम न करने वालों को सुबह की सैर जरूर करनी चाहिए। इससे ताजगी और स्फूर्ति का संचार होता है। साथ ही, ब्लड प्रेशर और वजन दोनों नियंत्रण में रहता है।

साइकिलिंग

प्रतिदिन साइकिलिंग के कई फायदे हैं। हृदय रोग, कैंसर और डायबिटीज से बचने के लिए यह आसान और बिना खर्च का सर्वसुलभ साधन है। इससे वजन घटाने में मदद मिलती है और हड्डियां भी मजबूत होती हैं।

स्विमिंग

अकेले स्विमिंग कई कसरतों के बराबर है। इससे कैलोरी बर्न होने के साथ ही मांसपेशियों की पूरी एक्सरसाइज होती है। इससे शरीर का पॉस्चर सही रहता है और पीठ दर्द से छुटकारा मिलता है।

थाई ची

यह चाइनीज व्यायाम अपनी खूबियों की वजह से दुनियाभर में प्रसिद्ध है। इससे स्मरण शक्ति बढ़ने के साथ ही शरीर को नई ऊर्जा मिलती है। पीठ दर्द और गठिया से राहत दिलाने में यह बहुत ही कारगर है।

0.00 avg. rating (0% score) - 0 votes
0 replies

Leave a Reply

Want to join the discussion?
Feel free to contribute!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *