कोरोना के लक्षण मिलने के बाद घर और बाहर ये एहतियात बरतें

कोरोना वायरस (Covid-19) से बचने के लिए अभी तक इसके लक्षणों को जानना जरूरी था, पर अब यह जानना जरूरी हो गया है कि इसके मरीज मिलने पर क्या करना चाहिए और क्या नहीं। केंद्र सरकार के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने इसको लेकर एक नई गाइडलाइन जारी की है। इसके बारे में हर घर के कम से कम एक व्यक्ति को अनिवार्य तौर पर जानकारी होनी चाहिए। ये गाइडलाइन इस प्रकार है :

कोरोना के मरीज मिलने पर घर में क्या करें

  • मरीज मिलने पर केंद्रीय या राज्य की हेल्पलाइन नंबर पर तुरंत सूचित करें। उसे एकांत वार्ड में सरकार की ओर से भर्ती कराया जाएगा।
  • भर्ती होने से पहले तक मरीज को घर में अलग से कमरे में अकेले रहने की व्यवस्था करें। इस कमरे में वेंटिलेशन अच्छा होना चाहिए। अगर परिवार के किसी सदस्य को इस कमरे में रहने की जरूरत पड़े तो मरीज से कम से कम 1 मीटर की दूरी बनाकर रखें।
  • मरीज को बुजुर्ग लोगों, गर्भवती महिलाओं और बच्चों आदि से दूरी बनाकर रखें।
  • कोरोना पीड़ित की गतिविधि को घर के दायरे तक ही सीमित रखें।
  • किसी भी सामाजिक या धार्मिक गतिविधि जिसमें बहुत से लोग एकत्र होने वाले हों, उसमें मरीज को शामिल न होने दें।

मरीज खुद क्या सावधानी बरते

  • कोरोना के मरीज को अपना हाथ हमेशा साबुन या अल्कोहलयुक्त सेनेटाइजर से धोना चाहिए।
  • मरीज से जुड़े घरेलू सामान को किसी और के साथ शेयर करने से बचें जैसे- डिश, पानी का ग्लास, कप, खाने का बर्तन, तौलिया, बेडिंग आदि।
  • हमेशा सर्जिकल मास्क पहनें। हर 6 से 8 घन्टे के अंदर मास्क जरूर बदलें। इसे अच्छी तरह से डिस्पोज करें। एक बार प्रयोग के बाद उस मास्क का दोबारा प्रयोग न करें।
  • मरीज, उसके परिजनों या उसके आसपास के लोगों द्वारा प्रयुक्त मास्क को सोडियम हाइपोक्लोराइट सॉल्यूशन (1%) से कीटाणुरहित करें। उसे अच्छी तरह से जलाएं या जमीन के नीचे गहराई में दफनाएं।

मरीज के परिवार के लोग क्या करें

  • परिवार के किसी एक व्यक्ति को ही मरीज की देखभाल के लिए तय करें।
  • मरीज के सीधा संपर्क में आने से बचें। पीड़ित की त्वचा को छूने से भी बचना चाहिए।
  • जब मरीज के कमरे की फर्श आदि साफ करें तो हाथ में डिस्पोजेबल ग्लव्स का इस्तेमाल जरूर करें। ग्लव्स उतारने के बाद साबुन से हाथ धोएं।
  • अगर किसी व्यक्ति में कोरोना के लक्षण मिलते हैं तो उसके नजदीक आने वाले हर व्यक्ति को 14 दिन के एकांत घर (Home quarantine) में रहना होगा। इसके अलावा फॉलोअप के लिए 14 दिन की और अतिरिक्त निगरानी रखनी पड़ती है, जब तक कि रिपोर्ट निगेटिव न आ जाए।
  • मरीज के बेड, टेबल और फर्श आदि को सोडियम हाइपोक्लोराइट सॉल्यूशन (1%) से बराबर साफ करते रहें। इसके अलावा उसके कपड़े को अलग से डिटर्जेंट से साफ करें और अलग सुखाएं।

मदद के लिए यहां करें संपर्क

कोरोना वायरस का मरीज सामने आने पर तुरंत स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के हेल्पलाइन नंबर पर संपर्क करें। राष्ट्रीय स्तर पर यह हेल्पलाइन 24*7 कार्यरत है।

  • हेल्पलाइन नंबर है : 011-23978046
  • मदद के लिए यहां ईमेल भी कर सकते हैं :

ncov2019@gmail.com

कोरोना के लक्षण ऐसे पहचानें

0.00 avg. rating (0% score) - 0 votes
0 replies

Leave a Reply

Want to join the discussion?
Feel free to contribute!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *