रह-रहकर आपका पेट दर्द अल्सर हो सकता है, ऐसे पहचानें

अगर आपके पेट या सीने में लगातार या रह-रहकर दर्द हो रहा हो तो इसे हल्के में न लें, यह पेप्टिक अल्सर (Peptic Ulcer) हो सकता है। यह बीमारी संबंधित व्यक्ति में कई तरह की दिक्कतें बढ़ा देती है। इसमें कैंसर होने का खतरा भी रहता है। इसलिए जैसे ही इसके लक्षण सामने आएं, तुरंत डॉक्टर को दिखाना चाहिए। दवा से इसका इलाज संभव है, पर दिक्कत बढ़ने पर ऑपरेशन की जरूरत पड़ती है।

क्या है अल्सर

पेप्टिक अल्सर एक तरह के घाव हैं जो पेट, आहारनाल या छोटी आंत की अंदरूनी सतह पर होते हैं। यह तीन प्रकार का होता है। पहला-पेट का अल्सर। इसे गैस्ट्रिक अल्सर भी कहा जाता है। दूसरा अल्सर आहारनाल के अंदर विकसित होता है। इसे एसोफेगेल अल्सर के नाम से जाना जाता है। छोटी आंत में होने वाले तीसरे तरह के अल्सर को डिओडिनल अल्सर कहा जाता है।

अल्सर के लक्षण

  • पेट के ऊपरी हिस्से में दर्द
  • खाली पेट रहने या रात में तेज पेट दर्द
  • पेट में गैस का बनना या खट्टी डकार आना
  • भूख में कमी और वजन घटना
  • दिल में जलन महसूस होना
  • वसायुक्त भोजन के पचने में दिक्कत
  • जी मिचलाना या उबकाई आना

इस बीमारी के प्रमुख कारण

  • पेप्सिन और हाइडोक्लोरिक एसिड ज्यादा बनने से शरीर के उत्तकों को नुकसान पहुंचना
  • एच पाइलोरी बैक्टीरिया का संक्रमण
  • अनियमित दिनचर्या या खानपान
  • ज्यादा तीखा या तेल-मसालों का सेवन
  • धूम्रपान या ज्यादा अल्कोहल का सेवन
  • अत्यधिक मानसिक तनाव
  • लंबे समय तक एंटीबायोटिक या दर्द निवारक दवा का सेवन

ये सावधानी बरतें

  • जिन भी खाद्य पदार्थों से पेट में गैस या जलन होती है, उसका त्याग करें।
  • धूम्रपान और शराब की आदत छोड़ें। अगर पूरी तरह संभव न हो तो इसे कम करना चाहिए।
  • तनाव कम करें और नियमित तौर पर एक्सरसाइज की आदत डालें।
  • दर्द निवारक दवा का सेवन डॉक्टर की सलाह के बाद ही करें।
0.00 avg. rating (0% score) - 0 votes
0 replies

Leave a Reply

Want to join the discussion?
Feel free to contribute!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *