थायराइड (Thyroid) जब बढ़ जाए तो क्या खाएं और क्या न खाएं

थायराइड (Thyroid) बढ़ने पर कई तरह की दिक्कतें सामने आती हैं। ऐसी स्थिति में अपने खानपान में बदलाव कर बहुत हद तक इस पर नियंत्रण पाया जा सकता है। कई ऐसे फूड हैं, जो इस बीमारी में काफी कारगर साबित होते हैं। इसमें कुछ खाद्य पदार्थों का त्याग भी करना पड़ता है, इससे काफी राहत मिलती है। हालांकि, दिक्कत ज्यादा बढ़ने पर पहले डॉक्टर से सलाह जरूर लेनी चाहिए।

क्या खाएं (What to eat)

1. हल्का और पचने योग्य खाना

ऐसा खाना खाएं जो आसानी से पच जाए। दलिया इसके लिए सर्वोत्तम आहार है। एक ही बार ज्यादा खाने के बजाय थोड़े-थोड़े अंतराल पर कम-कम खाना खाएं। इससे शरीर में ऊर्जा बनी रहती है और थकान कम लगती है।

2. बॉयल (Boil) सब्जी का सेवन

कच्ची सब्जी आदि के बजाए बॉयल (Boil) किया हुआ आहार लें। नरम चावल, पका हुआ आलू, सी-फूड, मसूर की दाल, तीसी या अलसी का बीज (Linseed), बादाम, अदरक, लहसुन आदि का सेवन फादेमंद होता है।

3. फल खूब खाएं

खट्टे फल जैसे ऑरेंज आदि लेना बेहतर होता है। अमरूद और केला भी लाभकारी साबित होता है। इस बीमारी में जामुन, शहतूत आदि बहुत कारगर है। सेब भी खाया जा सकता है, पर इसका छिलका उतारकर। इसके मरीजों को खाने में नारियल तेल और जैतून के तेल का प्रयोग करना चाहिए।

4. दूध-दही का प्रयोग

थायराइड के मरीजों को दूध, दही और चीज का सेवन करना चाहिए। गाजर, मशरूम या चिकन सूप तथा लस्सी, फलों का जूस और ग्लूकोज पानी लेना काफी लाभकारी होता है।

5. अंडा, मछली फायदेमंद

थायराइड में अंडे का सेवन भी अच्छा माना जाता है। इसके अलावा मछली (Fish) भी बहुत लाभदायक होती है। इसमें पाया जाने वाला ओमेगा-3 फैटी एसिड डिप्रेशन और चिंता से लड़ने में मदद करता है।

6. पर्याप्त मात्रा में पानी

थायराइड में पर्याप्त मात्रा में पानी लेना चाहिए। रोज कम से कम 6 से 8 लीटर पानी पीना चाहिए। इससे डिहाइड्रेशन का खतरा नहीं रहता है। इससे खाना पचाने में भी मदद मिलती है।

क्या न खाएं (What not to eat)

1. फास्टफूड से दूरी

थायराइड में फास्टफूड जैसे पिज्जा, बर्गर, फ्रेंच फ्राइज, नूडल्स आदि पूरी तरह बंद कर देना चाहिए। इससे पेट में जलन और गैस की समस्या बढ़ती है। इसके अलावा ज्यादा तेल-मसाले वाले खाद्य पदार्थ का सेवन भी नहीं करना चाहिए। इस बीमारी में केक और कुकीज का प्रयोग भी वर्जित है।

2. ज्यादा फाइबर नहीं

फाइबर आहार में लिया जा सकता है, पर ज्यादा फाइबर वाले फलों और सब्जी आदि का सेवन कतई नहीं करना चाहिए।

3. सोये की मनाही

बाजरा, ज्यादा आयोडीनयुक्त नमक, सोयाबीन या सोया आधारित खाद्य पदार्थ, ब्रोकली, काले, पालक, फूलगोभी, पत्ता गोभी और शिमला मिर्च न खाने की सलाह दी जाती है। इससे काफी राहत मिलती है।

4. शराब वर्जित

ग्रीन-टी, कॉफी और शराब का सेवन त्याग देना चाहिए। इससे थायराइड ग्रंथि में जलन घटती है और दिक्कत अपने आप आसान हो जाती है।

थायराइड को इन लक्षणों से पहचानें (Symptoms of Thyroid)

  • चेहरे और पैरों में सूजन
  • जोड़ों में दर्द रहना
  • बालों का झड़ना
  • अकारण वजन बढ़ना
  • थकान और कब्ज की समस्या
  • भूख का कम लगना
  • सूखी त्वचा और बालों का झड़ना
  • कोल्ड महसूस होना
  • मांसपेशियों में कमजोरी, गला बैठना
  • अनियमित माहवारी, धीमी हृदय गति
  • आवाज में बदलाव, कमजोर याददाश्त
  • थायराइड ग्रंथि का बढ़ना

क्या है थायराइड और क्यों होती है दिक्कत, जानने के लिए यहां क्लिक करें

0.00 avg. rating (0% score) - 0 votes
0 replies

Leave a Reply

Want to join the discussion?
Feel free to contribute!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *