पेट दर्द की तेज और कारगर दवा है पत्ता गोभी का जूस

पेट दर्द का एक बड़ा कारण पेप्टिक अल्सर (Peptic Ulcers) है और इसे दूर करने में पत्ता गोभी का जूस बहुत ही कारगर है। पेप्टिक अल्सर में पेट की अंदरूनी परत और छोटी आंत के ऊपरी हिस्से में घाव हो जाते हैं। पत्ता गोभी एल-ग्लूटामिन, एस-मेथीलमेथियोनिने (विटामिन U), जफर्नाट और ग्लूकोसिनोलेट्स का एक अच्छा प्राकृतिक स्रोत है। पेट के घावों को भरने में ये काफी सहायक होते हैं। इससे पाचन तंत्र भी सुधरता है।

अन्य उपचार से बेहतर

पत्ता गोभी में पाया जाने वाला विटामिन U पेप्टिक अल्सर को बनने से रोकता है। अमेरिका के वेस्टर्न जर्नल ऑफ मेडिसिन में प्रकाशित एक शोध के अनुसार पेप्टिक अल्सर रोग में पत्ता गोभी की उपयोगिता जानने के दौरान चौंकाने वाले तथ्य सामने आए। इसमें पाया गया कि पत्ता गोभी के जूस का सेवन करने वाले 13 लोगों के घाव 10.4 दिन में भर गए लेकिन वे 62 लोग जिनका अन्य चिकित्सा विधि से इलाज हुआ, उनके जख्म ठीक होने में 37 दिन लग गए।

वजन घटाने और कैंसर में भी उपयोगी

पत्ता गोभी का जूस वजन घटाने और कैंसर में भी उपयोगी है। 100 ग्राम पत्ता गोभी में 2.5 ग्राम फाइबर, 1.3 ग्राम प्रोटीन और 60 प्रतिशत विटामिन A पाया जाता है। इसमें कैलोरी की मात्रा 25 और कोलेस्ट्रॉल जीरो होता है। कैलोरी कम होने से यह वजन घटाने में सहायक होता है। यह जूस बढ़े कोलेस्ट्रॉल की मात्रा को भी कम करता है। इसके अलावा इसमें मौजूद विटामिन C त्वचा को स्वस्थ बनाए रखने में मदद करता है। इंटरनेशनल जर्नल ऑफ कैंसर के अनुसार गोभी का सेवन करने वालों को कैंसर की आशंका कम होती है।

लाल पत्ता गोभी ज्यादा फायदेमंद

लाल पत्ता गोभी सफेद पत्ता गोभी के मुकाबले ज्यादा फायदेमंद मानी जाती है। विशेषज्ञों के अनुसार इसमें विटामिन C और विटामिन K की मात्रा सफेद पत्ता गोभी के मुकाबले ज्यादा पाई जाती है। लाल पत्ता गोभी में पाए जाने वाले एंटीऑक्सीडेंट्स कैंसर की बीमारी में ज्यादा कारगर माने जाते हैं। इनसे शरीर की प्रतिरोधक क्षमता भी मजबूत होती है। गोभी का सब्जी या सलाद में सेवन के बजाय इसका जूस लेना ज्यादा फायदेमंद होता है। जूस आसानी से खाना पचने में मदद करता है। इसका जूस घर में जूसर में आसानी से निकाला जा सकता है। जूस में नमक भी मिला सकते हैैं। काला नमक मिलाना ज्यादा बेहतर होता है।

0.00 avg. rating (0% score) - 0 votes
0 replies

Leave a Reply

Want to join the discussion?
Feel free to contribute!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *