खांसी, खराश और बलगम से छुटकारे के आसान तरीके

बदलते मौसम में खांसी ( Cough) को हल्के में लेने का मतलब है कि खुद को लंबे समय तक परेशानी में डालना। खांसी, गले में खराश और बलगम निकलने से लगातार कई हफ्ते तक रातों के साथ-साथ दिन का भी चैन हराम हो सकता है। इससे बचने के लिए जरूरी है कि इसके लक्षण पता चलते ही कुछ जरूरी उपाय अपनाना लिए जाएं। इससे आसपास के दूसरे लोग भी संक्रमित होने से बच सकते हैं।

शहद : खांसी से जल्द राहत दिलाने में शहद बहुत कारगर साबित होता है। दो चम्मच शहद में एक चम्मच नींबू या अदरक का रस मिलाकर दिन में 2 बार लेना चाहिए। शहद को गर्म पानी, हर्बल टी या ब्रेड आदि के साथ लेने से भी फायदा मिलता है।

काली मिर्च : खांसी होने पर चाय में काली मिर्च डालकर पीने से राहत मिलती है। एक कप गर्म पानी में दो चम्मच शहद और एक चम्मच काली मिर्च मिलाकर दिन में 2-3 बार लेना चाहिए। काली मिर्च इंफेक्शन को दूर करती है। इससे पाचन में भी सुधार होता है।

अदरक : अदरक सूखी खांसी में भी बहुत काम आता है। एक ग्लास पानी लेकर उसे खौला लें। उसमें अदरक के 2-3 टुकड़े और एक चुटकी नमक मिला दें। अब 5-7 मिनट तक पानी को खौलने दें। इसके बाद ठंडा होने पर इसे छानकर पीएं, खांसी-बलगम और खराश से काफी राहत मिलेगी।

गुड़ : गुड़ हमारे शरीर को गर्म रखने के साथ ही प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने का काम करता है। इससे कफ और कोल्ड में काफी आराम मिलता है। जाड़े में रोज गुड़ का सेवन करना चाहिए। इसे पानी या चाय में मिलाकर भी पीने से लाभ मिलता है।

हल्दी : हल्दी में करक्यूमिन नामक सक्रिय यौगिक पाया जाता है। यह बलगम को खत्म करने का काम करता है। इससे सीने की जकड़न और कोल्ड से छुटकारा मिलता है। खांसी होने पर सुबह-शाम दूध में हल्दी मिलाकर पीयें। पानी में हल्दी मिलाकर गरारे करने से भी काफी राहत मिलती है।

पिपरमेंट : पिपरमेंट में भी चिकित्सकीय गुण पाए जाते हैं। इसमें पाया जाने वाला मेंथाल बलगम को कम करने का काम करता है। पिपरमेंट की चाय पीने से खांसी और खराश दोनों को दूर करने में मदद मिलती है। पानी में पिपरमेंट मिलाकर इसका भाप लेने से भी काफी फायदा होता है।

प्रोबायोटिक्स : प्रोबायोटिक्स को अच्छे और मददगार बैक्टीरिया के तौर पर जाना जाता है। यह सेहत के लिए काफी लाभकारी होते हैं। इनसे पाचनशक्ति सुधारने में भी मदद मिलती है। ये कोल्ड और कफ से राहत दिलाने में भी सहायक होते हैं। इसके लिए प्रोबायोटिक्स सप्लीमेंट्स लेने चाहिए। ये मेडिकल स्टोर से लिए जा सकते हैं।

0.00 avg. rating (0% score) - 0 votes
0 replies

Leave a Reply

Want to join the discussion?
Feel free to contribute!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *