सागौन के पौधे लगाकर 4 करोड़ से अधिक कमाएं

सागौन (Teak) या सागवान (Sagwan) के पौधे (Plants) लगाकर आप 4 करोड़ रुपये या इससे ऊपर तक की कमाई कर सकते हैं। किसी भी खाली स्थान पर इन पौधों को लगाकर छोड़ दें और थोड़ी देखभाल करें। जिस दिन ये पौधे पेड़ बन जाएंगे, आपके लिए एक बड़ी पूंजी तैयार हो जाएगी। यह एक साइड या सपोर्टिंग बिजनेस की तरह है। इन पौधों को लगाने से लेकर तैयार होने तक इन पर आपको पूरा समय देने की जरूरत भी नहीं है। इसके साथ-साथ आप अपना नियमित व्यवसाय या कार्य आसानी से कर सकते हैं।

लागत और आमदनी

अगर आप सागौन के 500 पौधे लगाते हैं तो ये बड़े होकर आपको 4 करोड़ रुपये दे सकते हैं। इसका एक पौधा आपको 12 से लेकर 80 रुपये तक में आसानी से सुलभ हो जाता है। इसके पौधे ऑनलाइन भी मिल रहे हैं। आपके ऑर्डर करते ही ये घर तक डिलीवर किए जाते हैं। सागौन के पौधों को पेड़ बनने में 15 वर्ष का समय लगता है। इसके बाद इसका एक पेड़ कम से कम 40 हजार रुपये तक में बिक जाता है। इस तरह 500 पौधों के 2 करोड़ रुपये मिल जाते हैं। एक बार कटाई के 15 वर्ष बाद फिर से ये पेड़ बन जाते हैं। इनकी लकड़ी से आप फिर 2 करोड़ रुपये प्राप्त कर सकते हैं।

तापमान, जमीन और खेती

सागौन के लिए 10 से 45 डिग्री सेल्सियस तापमान होना चाहिए। इसके लिए मिट्टी का उपजाऊ होना जरूरी है। पौधे रोपने से पहले मिट्टी को समतल कर मेड़ बनाना सही रहता है। जमीन ऐसी होनी चाहिए कि उसमें पानी जमा न होने पाए। सागौन के लिए 1,200 से 2,500 एमएम (mm) बारिश उत्तम मानी जाती है। इसके पौधों को रोपने के लिए मानसून का समय सबसे अच्छा रहता है। गर्मी में पौधों की नियमित सिंचाई की जरूरत पड़ती है।

पौधों के प्रकार

सागौन की कई किस्में हैं। इनमें मालाबार, वेस्ट अफ्रीकन, साउथ और सेंट्रल अमेरिकन और म्यांमार टिक (Teak) ज्यादा प्रसिद्ध हैं। किस किस्म के पौधे आपको लगाने चाहिए, इसके लिए अपने आसपास की नर्सरी से सलाह जरूर लें। स्थानीय जलवायु और मिट्टी के अनुसार बेहतर किस्मों का चयन किया जा सकता है। वैसे सागौन की हर किस्म की लकड़ी काफी मजबूत होती है। इसका उपयोग घर से लेकर नाव, जहाज और ट्रेन के डिब्बों के बनाने तक में होता है। इसकी लकड़ी वर्षों तक खराब नहीं होती है। इसके पौधरोपण के लिए सरकारी केंद्रों पर निःशुल्क मदद और सलाह दी जाती है।

0.00 avg. rating (0% score) - 0 votes
0 replies

Leave a Reply

Want to join the discussion?
Feel free to contribute!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *