मोती की खेती दिलाएगी वर्ष में 8-10 लाख रुपये

अनाज, फल-फूल की खेती अगर अब मुनाफे का सौदा न रही हो तो एक बार मोती की खेती (Pearl farming) आजमा कर जरूर देखें। इसमें 70-85 हजार तक महीना और सालाना 8-10 लाख रुपये तक कमा सकते हैं। खास बात यह है कि मोती पालन 15 हजार रुपये की लागत से शुरू किया जा सकता है। इसके लिए नाबार्ड समेत कई बैंक कम ब्याज दरों पर लोन भी मुहैया कराते हैं। सरकार भी मोती पालन पर सब्सिडी दे रही है। प्रशिक्षण के बाद मोती पालन और भी आसान और फायदेमंद साबित होता है। इसके लिए ओडिशा के भुवनेश्वर स्थित सेंट्रल इंस्टीट्यूट ऑफ फ्रेशवाटर एक्वाकल्चर (CIFA) से संपर्क किया जा सकता है। यहां मोती पालन का 2 से 15 दिन के लिए प्रशिक्षण दिया जाता है। इसमें सीप सर्जरी समेत तमाम गुर सिखाए जाते हैं।

शुरू में इसकी जरूरत

मोती की खेती के लिए अक्टूबर से दिसम्बर का समय अनुकूल माना जाता है, लेकिन यह अब किसी भी मौसम में की जा सकती है। इसके लिए सबसे पहले एक छोटे से तालाब की जरूरत पड़ती है। आप इसके लिए खेत या किसी खाली जगह पर एक चौकोर गड्ढा खोदकर उसमें पानी भर सकते हैं । इसके बाद आवश्यकता पड़ती है सीप की। ये बड़े तालाब में मिल जाते हैं। इन्हें बाजार से भी 15 से 30 रुपये तक में खरीद सकते हैं। पहली बार 100-150 सीपों से उत्पादन शुरू किया जा सकता है। इस पर 15,000 रुपये तक का खर्च आता है। इसमें उपकरण आदि के खर्च भी शामिल हैं। बाद में मुनाफा बढ़ने पर आप सीपों की संख्या 2,000-2,500 भी कर सकते हैं।

ऐसे होता है मोती उत्पादन

सबसे पहले सीपों को थोड़ी देर के लिए खुले पानी में छोड़ दिया जाता है। इससे इनकी मांसपेशियां ढीली पड़ जाती हैं। इसके बाद पानी से निकालकर इन सीपों की सर्जरी की जाती है। इस दौरान इन सीपों के भीतर एक प्रकार का कण डाल दिया जाता है। जब यह चुभता है तो सीपों के भीतर से खास तरह का तरल पदार्थ निकलता है। यही पदार्थ लंबे समय बाद मोती का रूप ले लेता है। बहरहाल, सीपों की सर्जरी के बाद इन्हें नायलॉन के बैग में रखकर किसी पाइप या बांस के सहारे तालाब में डाल दिया जाता है। इन सीपों के भीतर मोती तैयार होने में 15-20 महीने लग जाते हैं। इसके बाद इन सीपों को तोड़कर मोती निकाल लिया जाता है।

10 हजार का एक मोती

सीप के अंदर कई आकार के मोती तैयार होते हैं। मोती का आकार सीपों की गुणवत्ता पर निर्भर करता है। अच्छी गुणवत्ता वाले मोती की बाजार में कीमत आजकल 10 हजार से भी ऊपर है। औसतन ये 500 से लेकर 2,000 रुपये में बिक जाते हैं। इसके लिए आप ऑनलाइन मार्केट भी तलाश सकते हैं।

0.00 avg. rating (0% score) - 0 votes
0 replies

Leave a Reply

Want to join the discussion?
Feel free to contribute!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *