शरीर का ‘कचरा’ ऐसे साफ करें

विभिन्न खाद्य पदार्थों और वातावरण में प्रदूषण की वजह से हमारे शरीर में विषैले तत्व इकट्ठा होते रहते हैं। इन्हें हमारे अंदरूनी अंग बराबर साफ करते हैं, लेकिन जब इनकी मात्रा बहुत ज्यादा हो जाती है तब ये अंग भी जवाब दे जाते हैं। ऐसे में जरूरत पड़ती है विषैले तत्वों की सफाई (Detoxification) की। ऐसा न करने पर हमारी मुश्किलें बढ़ती जाती हैं। कुछ एहतियात बरतकर इसे नियमित तौर पर भी किया जा सकता है।

खान-पान में बदलाव

शरीर के ‘कचरे’ की सफाई की शुरुआत खान-पान से होती है। फाइबरयुक्त खाद्य पदार्थ शरीर से विषैले रसायनों को बाहर निकालने में सहायक होते हैं। इसके लिए ताजी सब्जियों और फलों का सेवन करना चाहिए। ऑर्गेनिक सब्जी-फल ज्यादा लाभकारी होते हैं। इनके जूस भी कारगर साबित होते हैं। साबुत अनाज भी फाइबर के प्रमुख स्रोत हैं। खाने में भूरा चावल, जौ, बाजरा, जई आदि किसी न किसी रूप में शामिल करना चाहिए। हल्दी, अदरक, लहसुन, प्याज भी क्लीनर के तौर पर जाने जाते हैं। पर्याप्त मात्रा में शुुद्ध पानी और लाल चाय भी शरीर का कचरा साफ करने में मददगार है। इसके विपरीत फ्राई किया हुआ खाना, रिफाइंड खाद्य या पेय पदार्थ और कैफीन का अत्यधिक इस्तेमाल नुकसानदायक साबित होता है। विषैले तत्वों से बचने के लिए अल्कोहल और रेड मीट से भी बचना चाहिए।

घर के अंदर और बाहर बचाव

वाहनों और फैक्ट्रियों के प्रदूषण से बड़े शहरों का प्रदूषण कई गुना बढ़ चुका है। इससे विषाक्त पदार्थ हमारे अंदर पहुंचकर अस्थमा और फेफड़े की अन्य बीमारियों को बढ़ावा देते हैं। ऐसे में बाहर निकलते समय मास्क का प्रयोग जरूर करें। घर में भी एयर प्यूरीफायर का इस्तेमाल किया जा सकता है। स्वच्छ हवा के लिए घर और दफ्तर के अंदर भी पेड़-पौधों को जगह देनी चाहिए। सौंदर्य प्रसाधन के जरिए भी कई तरह के रसायन शरीर के अंदर प्रवेश कर जाते हैं, खासकर महिलाओं में। इसलिए इनका प्रयोग सीमित तौर पर और सावधानी से करना चाहिए।

दिक्कत से घबराएं नहीं

शरीर से विषैले रसायनों की सफाई करते समय कई प्रतिकूल परिवर्तन भी सामने आते हैं, लेकिन इससे घबराने की जरूरत नहीं है। इस प्रक्रिया में वजन घटना, कुछ समय के लिए थकान और चिड़चिड़ापन आम है। बच्चों और गर्भवती महिलाओं को इस डाइट प्लान को आजमाने से बचना चाहिए। गंभीर रोग से पीड़ित लोग अगर इस प्रक्रिया को अपनाना चाहते हैं तो उन्हें पहले अपने चिकित्सक से संपर्क करना चाहिए।

0.00 avg. rating (0% score) - 0 votes
0 replies

Leave a Reply

Want to join the discussion?
Feel free to contribute!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *