एलोवेरा ऐसे रोकता है बुढ़ापा

एलोवेरा (Aloe Vera) की हजारों सालों की ऐतिहासिक खूबियों पर मुहर लगाते हुए एक नई रिसर्च ने कई तथ्यों को उजागर किया है। इसके अनुसार 90 दिन तक लगातार शुद्ध एलोवेरा जेल या इसके स्किनकेयर उत्पाद का इस्तेमाल करने से त्वचा एकदम सॉफ्ट हो जाती है। यह एन्टी एजिंग (बुढ़ापा रोधी) के तौर पर काम करता है। 45 वर्ष की 30 महिलाओं पर इस अध्ययन में पाया गया कि एलोवेरा के इस्तेमाल से उनके शरीर के अंदर कोलेजन (Collagen) का उत्पादन बढ़ गया। कोलेजन हमारी हड्डियों, मांसपेशियों और त्वचा आदि में पाया जाता है। यह शरीर को एक साथ रखने के साथ ही उसकी संरचना और मजबूती का काम करता है।

एलोवेरा की अन्य खूबियां भी कम नहीं हैं। इसके जूस से लेकर जेल (Gel), कैप्सूल, पाउडर आदि तक बाजार में उपलब्ध हैं। इसकी खूबियों के कारण ही कास्मेटिक और दवा के रूप में अभी दुनियाभर में इसका 13 अरब रुपये का कारोबार है।

चेहरे से दाग-धब्बे हटाए

एलोवेरा स्टेम में 96 प्रतिशत से भी अधिक पानी की मात्रा पाई जाती है, इसलिए इसे सीधे तोड़कर चेहरे पर लगाने से भी त्वचा को काफी पोषण मिलता है। इसका जेल त्वचा से दाग-धब्बे को मिटाने के साथ ही उसे नया पोषण देने का काम करता है। इसकी खास बात यह है कि बाजार के अन्य जेल या क्रीम की तरह इसके कोई साइड इफेक्ट नहीं हैं।

कब्ज की समस्या दूर करे

बहुत से डॉक्टर कब्ज की दिक्कत में एलोवेरा के इस्तेमाल की सलाह देते हैं, लेकिन ध्यान रखने वाली बात यह है कि इसमें इसका जेल नहीं, लेटेक्स (Latex) काम आता है। लेटेक्स एक चिपचिपा पीला पदार्थ है जो एलोवेरा की पत्ती के ठीक नीचे पाया जाता है। हालांकि इसके ज्यादा प्रयोग को लेकर चिकित्सकों के एक वर्ग की ओर से चिंताएं भी व्यक्त की जाती रही हैं।

जलने और घाव ठीक करने में कारगर

आग से जलने के फौरन बाद एलोवेरा जेल लगाने से काफी राहत मिलती है। इसके अलावा शरीर के घावों को भरने के लिए इसे जाना जाता है। एक अध्ययन में पाया गया कि यह घाव ठीक करने में किसी भी सामान्य दवा से नौ गुना अधिक कारगर है। एलोवेरा में पोलीफेनॉल्स नामक पदार्थ पाया जाता है जो बैक्टीरिया के विकास को रोकता है। इससे इंफेक्शन की आशंका खत्म हो जाती है।

दांतों का मजबूत रक्षक

अगर दांतों पर परत जम रही है, मसूड़ों से खून आ रहा है या सूजन है तो एलोवेरा अर्क (Extract) का इस्तेमाल जरूर करना चाहिए। यह माउथ फ्रेशनर का काम करता है। इथोपियन जर्नल ऑफ हेल्थ साइंसेज में 2014 में प्रकाशित एक रिपोर्ट के अनुसार एलोवेरा जेल केमिकल से बने माउथवाश उत्पाद का सुरक्षित विकल्प है। इसमें पाया जाने वाला विटामिन C दांतों पर परत नहीं चढ़ने देता।

ब्लड शुगर घटाए

एक अंतरराष्ट्रीय जर्नल की मानें तो टाइप दो डाइबिटीज के मरीज अगर रोज 2 चम्मच एलोवेरा जूस लेते हैं तो उनका ब्लड शुगर का स्तर अपने आप कम हो जाएगा। लेकिन डाइबिटीज के मरीजों को इसके इस्तेमाल से पहले एक बार डॉक्टर से सलाह जरूर लेनी चाहिए, ताकि डाइबिटीज की दवा और जूस के एक साथ सेवन का कहीं प्रतिकूल असर न पड़े।

जोड़ों और मांसपेशियों के दर्द में लाभदायक

एलोवेरा का जूस पीने से जोड़ों और मांसपेशियों के दर्द से राहत मिलती है। 2 हफ्ते में इसका असर दिखने लगता है। हालांकि इस दौरान दर्द के मरीजों को खान-पान में संयम बरतने की जरूरत होती है। एलोवेरा शरीर से जलन की समस्या को भी खत्म कर देता है। इसके लिए इसका कैप्सूल काफी काम आता है।

0.00 avg. rating (0% score) - 0 votes
0 replies

Leave a Reply

Want to join the discussion?
Feel free to contribute!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *