बॉडी मसाज के 7 जादुई फायदे

दिनभर की भागदौड़ से थकान, शरीर दर्द और मानसिक तनाव से गुजर रहे हैं तो बॉडी मसाज थेरेपी (Body massage therapy) आपके लिए कारगर हो सकती है। प्राचीन काल से प्रसिद्ध मसाज का महत्व अब भी जरा सा भी कम नहीं हुआ है, बल्कि यह काफी बढ़ा है। दुनियाभर के कई अध्ययनों में इसके चिकित्सकीय गुणों को न सिर्फ प्रमाणित किया गया है, बल्कि विभिन्न शरीरिक दिक्कतों में इस थेरेपी की सिफारिश भी की जा रही है। यह इलाज एकदम नेचुरल है। आयुर्वेदिक मसाज में पंचतत्व (जल, वायु, आग, आकाश और धरती) की ऊर्जा से थकान दूर की जाती है। अरोमा थेरेपी में जड़ी-बूटियों के तेल, स्टोन मसाज में पत्थरों के सहारे तो कैंडल मसाज में हॉट कैंडल वैक्स का सहारा लिया जाता है। मसाज के 7 फायदे इस प्रकार हैं।

1. तनाव से छुटकारा

मसाज के दौरान शरीर के विभिन्न अंगों के निश्चित स्थानों पर दबाया जाता है ताकि हार्मोन्स रिलीज हो सकें। इससे तनाव से छुटकारा मिलता है। शियात्सु मसाज (Shiatsu massage) तनाव से राहत दिलाने में सबसे अधिक कारगर माना जाता है। यह जापानी मसाज थेरेपी है। शियात्सु का मतलब होता है अंगुलियों का दबाव। इसमें शरीर के विभिन्न हिस्सों पर दबाव बनाने के लिए थेरेपिस्ट पैर, घुटने और कोहनियों का इस्तेमाल करते हैं।

2. चिंता कम करे

एक अमेरिकन जर्नल में प्रकाशित रिपोर्ट के अनुसार ऐसे मरीज जो उदास और चिंतित थे, वे मसाज के बाद बहुत खुश दिखने लगे और उनका तनाव का स्तर बहुत कम हो गया। सेहत विशेषज्ञों के अनुसार चिंता (Anxiety) के शिकार लोगों को कम से ज्यादा मसाज की तरफ बढ़ना चाहिए। पहले 4 से 6 सप्ताह तक हफ्ते में दो बार मसाज का सहारा लेना चाहिए। जैसे-जैसे आपकी स्थिति में सुधार होते जाए, मसाज नियमित और कम अंतराल पर बढ़ाते जाएं।

3. मानसिक स्वास्थ्य में सुधार

मसाज से स्ट्रेस (Stress) हार्मोन्स कोर्टिसोल (Cortisol) का स्तर कम हो जाता है, इससे काफी राहत मिलती है। ये हार्मोन्स ही डिप्रेशन, चिंता, कमजोर याद्दाश्त और मानसिक स्वास्थ्य विकारों के लिए जिम्मेदार होते हैं। ब्लड प्रेशर बढ़ने के पीछे भी इन्हीं हार्मोन्स का हाथ होता है। बढ़ा हुआ ब्लड प्रेशर दिल के रोगों समेत अन्य कई बीमारियों का कारण बनता है।

4. शरीर दर्द से राहत

मसाज के बाद शरीर दर्द से काफी राहत मिलती है। डीप टिशु मसाज (Deep tissue massage), हॉट टॉवल मसाज (Hot towel massage), पाउडर मसाज (Powder massage) और नेचुरल मसाज (Natural massage) शरीर दर्द से आराम दिलाने के लिए खास तौर पर जाने जाते हैं।

5. मांसपेशियों के दर्द में कारगर

एनल्स ऑफ इंटर्नल मेडिसिन ( Annals of internal medicine) में प्रकाशित एक अध्ययन के अनुसार पीठ दर्द में मसाज थेरेपी उतनी कारगर साबित होती है, जितनी इलाज की कोई और विधि। मसाज से न सिर्फ मांसपेशियों में जकड़न से काफी राहत मिलती है, बल्कि मांसपेशियों के दर्द से भी आराम महसूस होता है। एथलीटों को खास तौर से डॉक्टर मसाज थेरेपी आजमाने के लिए सलाह देते हैं।

6. सही रक्त प्रवाह

मसाज से शरीर में रक्त प्रवाह में बहुत सुधार होता है। जैसे टूथपेस्ट की ट्यूब को दबाने से पेस्ट बाहर निकलने लगता है, ठीक उसी प्रकार मसाज में शरीर के अलग-अलग अंगों को दबाने से रक्त प्रवाह बढ़ जाता है। इस दौरान शरीर से नुकसानदायक तत्व बाहर निकल जाते हैं। रोजमैरी (Rosemary) तेल के मसाज से रक्त प्रवाह में तेजी से सुधार होता है।

7. प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाए

मसाज से शरीर में सफेद रक्त कोशिकाओं (White blood cells) की संख्या में वृद्धि होती है। ये शरीर को चोट और बीमारियों से लड़ने में मदद करती हैं। इससे शरीर की प्रतिरोधक क्षमता मजबूत होती है। एचआईवी से ग्रस्त मरीजों की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में भी इस थेरेपी का सहारा लिया जाता है। मसाज से रातों को नींद बहुत अच्छी आती है।

0.00 avg. rating (0% score) - 0 votes
0 replies

Leave a Reply

Want to join the discussion?
Feel free to contribute!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *