सदाबहार आम का पेड़ साल में तीन बार देता है फल, खुद घर में लगाएं

फलों का राज आम तो सबको पसंद है, पर यह सालभर खाने को नहीं मिलता है। एक सीजन में स्वाद चखने के बाद आम के लिए अगले वर्ष तक का इंतजार करना पड़ता है। लेकिन अब आपको आम के लिए इतने लंबे इंतजार की जरूरत नहीं है। सदाबहार आम (Sadabahar Aam) ऐसी प्रजाति का आम है, जो साल में तीन बार फल देता है। इसे आप अपने खेत, बगीचे या घर के गमले तक में लगा सकते हैं। इसका पौधा बहुत जल्द फल देने लगता है। इसे लगाने में बहुत भारी खर्च नहीं करना होता है। अपने खेत में सदाबहार आम लगाकर आप अच्छी कमाई भी कर सकते हैं।

सदाबहार आम के बारे में

सदाबहार आम (Sadabahar Mango) की प्रजाति विकसित करने का श्रेय राजस्थान के कोटा निवासी किसान श्रीकृष्ण सुमन को जाता है। सदाबहार आम के विकसित होने की कहानी भी काफी दिलचस्प है। श्रीकृष्ण सुमन ने वर्ष 2000 में अपने बगीचे में एक ऐसे आम के पेड़ की पहचान की, जिस पर सालभर में तीन बार बौर (फूल) आता था। इसकी वृद्धि भी बहुत अच्छी थी। इसके लक्षण देख उन्होंने इस पेड़ से कलम के रूप में आम के पौधे के पांच ग्राफ्ट तैयार किए। इन्हें विकसित करने में श्रीकृष्ण सुमन को 15 साल लग गए। नई तरीके की प्रजाति विकसित करने के बाद उन्हें इसके लिए कई अवॉर्ड मिले। 2017 से लेकर अब तक वह अपनी नर्सरी से सदाबहार आम प्रजाति के 14 हजार से अधिक पौधों की आपूर्ति कर चुके हैं। इनके पौधे देशभर के विभिन्न राज्यों में लगाए जा चुके हैं। हाल ही में राष्ट्रपति भवन के मुगल गार्डन में भी सदाबहार आम के उनके पौधे लगाए गए हैं। उनकी इस नई किस्म को नेशनल इनोवेशन फाउंडेशन की ओर से मान्यता भी मिल चुकी है।

11वीं पास, कमाई लाखों में

सदाबहार आम को विकसित करने वाले करीब 54 साल के श्रीकृष्ण सुमन (Srikrishna Suman) ने 11वीं के बाद पढ़ाई छोड़ दी थी। इसके बाद अपने पिता के साथ खेती करने लगे थे। धान आदि की फसल में कोई लाभ नहीं दिखा तो सब्जी और फूलों की भी खेती की, पर उसमें भी कोई खास फायदा नहीं हुआ, तब जाकर उन्होंने आम का बगीचा लगाया। आज वह अकेले अपनी आम की नर्सरी से ही साल में 20 लाख रुपये तक की कमाई कर रहे हैं। सदाबहार आम लगाने के इच्छुक लोगों को श्रीकृष्ण सुमन की ओर से इसे लगाने के तरीके भी बताए जाते हैं।

सदाबहार आम प्रजाति की खासियत

  • सदाबहार आम के पौधे पर साल में तीन बार जनवरी-फरवरी, जून-जुलाई और सितंबर-अक्टूबर में फल आते हैं।
  • यह बौनी किस्म की प्रजाति है। इसे घर में अपने गमले में भी लगा सकते हैं।
  • सदाबहार आम के पौधे पर दूसरे साल ही फल आने लगते हैं।
  • इसके एक बड़े पेड़ से 200 किलो तक फल आसानी से प्राप्त किया जा सकता है।
  • सदाबहार आम का स्वाद मीठा होता है। इसका छिलका गहरे हल्के नारंगी रंग का होता है।
  • इसके पल्प में रेशे बहुत कम होते हैं।
  • इसका स्वाद लंगड़ा आम से मिलता-जुलता है।
  • इस आम के पौधे प्रमुख रोगों से प्रतिरक्षित हैं।

सदाबहार आम लगाने का समय

सदाबहार आम के पौधे गर्मी के सीजन को छोड़कर हर सीजन में लगाए जा सकते हैं।

सदाबहार आम के पौधे की कीमत

सदाबहार के आम के डेढ़ से दो फीट तक ऊंचाई वाले पौधे की कीमत 1,700 रुपये और चार से पांच फीट ऊंचाई वाले पौधे की कीमत 5,000 रुपये है। डेढ़ फीट ऊंचाई वाला पौधा तीन साल में फल देगा, जबकि पांच फीट ऊंचाई वाला पौधा सालभर में फल देने लगता है। सदाबहार आम के पेड़ की ऊंचाई करीब 15 फीट तक होती है।

सदाबहार आम के पौधे मंगाने के लिए यहां संपर्क करें :

श्रीकृष्ण सुमन, गांव गिरधरपुरा, वार्ड-1, तालुका लाडपुरा, जिला-कोटा, राजस्थान

मोबाइल नंबर : 9829142509

(नोट : खुद से पूरी तरह से तसल्ली होने के बाद ही सदाबहार आम के पौधों के लिए ऑर्डर करें। )

5.00 avg. rating (92% score) - 1 vote
0 replies

Leave a Reply

Want to join the discussion?
Feel free to contribute!

Leave a Reply

Your email address will not be published.