छतरपुर मंदिर (Chhatarpur Mandir, New Delhi) की सम्पूर्ण जानकारी, मंदिर की खासियत, खुलने का समय, कब जाएं

दिल्ली का छतरपुर मंदिर (Chhatarpur Mandir, New Delhi) अक्षरधाम मंदिर के बाद दिल्ली का दूसरा सबसे बड़ा मंदिर है। इसे आद्या कात्यायनी मंदिर के नाम से भी जाना जाता है। गुरुग्राम-महरौली मार्ग के निकट छतरपुर में स्थित यह मंदिर बहुत ही विशाल क्षेत्र में फैला हुआ है। मुख्यतः यह मंदिर मां दुर्गा को समर्पित है, पर यहां भगवान विष्णु, शिव, गणेश, मां लक्ष्मी और हनुमान, भगवान श्रीराम आदि के भी करीब 20 मंदिर बने हुए हैं। यहां दर्शन करने के लिए देश-विदेश से श्रद्धालु आते हैं। दुर्गा पूजा और नवरात्र में इस मंदिर में श्रद्धालुओं की काफी भीड़ उमड़ती है। मंदिर परिसर में स्थित हनुमान जी की 101 फीट ऊंची विशाल मूर्ति, भगवान शिव का गगनचुंबी त्रिशूल तथा लॉन और बगीचे काफी भव्य और आकर्षक हैं। मंदिर की बनावट सबका मन मोह लेती है।

छतरपुर मंदिर का इतिहास

छतरपुर स्थित आद्या कात्यायनी मंदिर 70 एकड़ क्षेत्र में फैला हुआ है। मंदिर की स्थापना कर्नाटक के संत बाबा नागपाल जी ने की थी। इससे पहले यहां एक कुटिया हुआ करती थी। इस शक्तिपीठ का शिलान्यास 1974 में किया गया था। छतरपुर मंदिर परिसर में स्कूल, धर्मशाला, अस्पताल का भी संचालन किया जाता है।

मंदिर की वास्तुकला और खासियत

छतरपुर मंदिर को दक्षिण भारतीय शैली में सफेद संगमरमर से बनाया गया है। यह दक्षिण भारतीय वास्तुकला का उत्कृष्ट उदाहरण है। मंदिर की नक्काशी देखने योग्य है। नवरात्र, दुर्गा पूजा समेत अन्य खास मौके पर सजावट के बाद मंदिर मंदिर की छटा काफी अनुपम होती है। मंदिर में मां कात्यायनी की सोने की विशाल मूर्ति बनी हुई है। परिसर में ही देवी कात्यायनी का विश्राम गृह भी बना हुआ है। इसमें चांदी से बना एक बिस्तर और ड्रेसिंग टेबल रखा हुआ है।

यह भी है खास

  • छतरपुर मंदिर में माता का श्रृंगार प्रतिदिन अलग-अलग तरीके से किया जाता है। माता के श्रृंगार के लिए प्रतिदिन हर रंग के फूलों की माला दक्षिण भारत से मंगवाई जाती है।
  • परिसर में ही एक पवित्र पेड़ भी है, जिस पर भक्त धागा और चूड़ियां बांधकर मन्नत मांगते हैं। माना जाता है कि यहां सच्चे मन से मांगी गई हर मन्नत पूरी होती है।

छतरपुर मंदिर के खुलने और बंद होने का समय

छतरपुर मंदिर श्रद्धालुओं के लिए रोज सुबह 6:00 बजे खुल जाता है और रात को 10:30 बजे बंद होता है।

मंदिर में दर्शन के लिए कब जाएं

छतरपुर मंदिर में दर्शन के लिए आप कभी भी जा सकते हैं। ज्यादा गर्मी की वजह से मई-जून में जाने से बचना चाहिए। इन महीनों में जाएं भी तो सुबह-शाम जाना उचित रहता है। नवरात्र और दुर्गा पूजा पर मंदिर में काफी रौनक रहती है। इस मौके पर यहां जाना बहुत खास होता है।

छतरपुर मंदिर का पता

छतरपुर मंदिर, गुरुग्राम-महरौली मार्ग, छतरपुर, नई दिल्ली-110030

फोन नंबर
011-26802925
011-26802360

छतरपुर मंदिर कैसे पहुंचें

छतरपुर मंदिर का नजदीकी मेट्रो स्टेशन यलो लाइन स्थित छतरपुर है। यहां से मंदिर की दूरी सिर्फ 500 मीटर है। आप यहां से उतरकर पैदल या ऑटो से जा सकते हैं। डीटीसी की बस से भी छतरपुर मंदिर तक पहुंचा जा सकता है। मंदिर से निजामुद्दीन रेलवे स्टेशन 16 किलोमीटर और नई दिल्ली रेलवे स्टेशन करीब 18 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है।

आसपास और कहां घूमें

छतरपुर मंदिर दर्शन के दौरान कुतुब मीनार भी घूमा जा सकता है। इस मंदिर से कुतुब मीनार की दूरी चार किलोमीटर ही है। इसके अलावा आप लोटस टेम्पल, इस्कॉन मंदिर, कालका मंदिर, तुगलकाबाद का किला, सिटी वॉक मॉल आदि घूम सकते हैं।

0.00 avg. rating (0% score) - 0 votes
0 replies

Leave a Reply

Want to join the discussion?
Feel free to contribute!

Leave a Reply

Your email address will not be published.