राष्ट्रीय विज्ञान केंद्र, दिल्ली (National Science Centre, Delhi) (एंट्री टिकट, खुलने का समय और दिन, क्या देखें)

मनोरंजन के साथ-साथ अगर कुछ नया जानना, समझना और देखना हो तो राष्ट्रीय विज्ञान केंद्र, दिल्ली (National Science Centre, Delhi) इसके लिए सबसे अच्छी जगह है। इस संग्रहालय (Museum) की स्थापना 1992 में की गई थी। इसका उद्घाटन तत्कालीन प्रधानमंत्री पीवी नरसिम्हा राव ने किया था। यह केंद्र राष्ट्रीय विज्ञान संग्रहालय परिषद का प्रमुख अंग है। आठ तल वाले इस संग्रहालय में हेरिटेज, फन गैलरी तथा प्री-हिस्टोरिक गैलरी में बहुत सी बातें आपको चौंकाएंगी। यहां मैजिक ऑफ मिरर्स और थ्री डी शो म्यूजियम के टूर को यादगार बना देते हैं। पढ़ने वाले बच्चों को तो एक बार राष्ट्रीय विज्ञान केंद्र जरूर दिखाना चाहिए।

विज्ञान केंद्र क्यों बनाया गया

राष्ट्रीय विज्ञान केंद्र में विज्ञान संबंधी प्रदर्शनी के अलावा स्थापत्य कला के इतिहास को रोचक तरीके से प्रदर्शित किया गया है। इस केंद्र की स्थापना विज्ञान को हर उम्र वर्ग के बीच लोकप्रिय बनाने और विज्ञान के प्रति लोगों की उत्सुकता बढ़ाने के लिए किया गया था। यहां नवीनतम वैज्ञानिक उपकरणों-तकनीकों से रूबरू होने का मौका मिलता है। यह केंद्र वैज्ञानिक सिद्धांतों और खोजों को मनोरंजक तरीके से दिखाता है। इससे ज्ञानवर्धन भी होता है। यहां अनेक हैंड्स ऑन डिस्प्ले लगे हैं, जो भौतिकी के सिद्धांतों की सरल व्याख्या करते हैं।

राष्ट्रीय विज्ञान केंद्र में प्रमुख गैलरी और शो

गैलरी

  • राष्ट्रीय विज्ञान केंद्र में स्थित इन्फॉर्मेशन रिवोल्यूशन गैलरी में देश में पिछले 6,000 साल में विज्ञान प्रौद्योगिकी के विकास को प्रदर्शनी के जरिए दिखाया गया है। ह्यूमन बायोलॉजी गैलरी में मानव शरीर का संरचनात्मक ढांचा देख आप चौंक उठेंगे।
  • हेरिटेज गैलरी में हजारों साल पुरानी भारतीय विरासत को दर्शाया गया है। इसमें मिट्टी से जुड़ीं कलाकृतियां भी प्रदर्शित की गई हैं। इस गैलरी में कला और साहित्य के साथ विकसित हुई समृद्ध वैज्ञानिक संस्कृति की झलक देखने को मिलती है।
  • फन साइंस गैलरी में बहुत सी चीजें आपको आश्चर्यचकित करेंगी। प्री-हिस्टोरिक गैलरी में हजारों साल पहले विलुप्त जीवों और उस समय के माहौल को स्पेशल लाइट और साउंड के इफेक्ट के साथ दिखाया जाता है।

स्पेशल शो

राष्ट्रीय विज्ञान केंद्र में 3D फिल्म शो देखने योग्य होता है। इसके अलावा मैजिक ऑफ मिरर्स यहां का बहुत ही खास आकर्षण है। इस केंद्र में दो एक्वेरियम भी बने हुए हैं।

केंद्र में लगने वाली प्रदर्शनी और अन्य गतिविधियां

राष्ट्रीय विज्ञान केंद्र में छात्रों और शिक्षकों के लिए हर वर्ष समय-समय पर शैक्षणिक कार्यक्रम कराए जाते हैं। इसके अलावा आधुनिक विज्ञान से जुड़ीं प्रदर्शनी भी लगाई जाती हैं। इसमें छात्रों को जुड़ने का मौका भी मिलता है।

राष्ट्रीय विज्ञान केंद्र खुलने के दिन और समय

राष्ट्रीय विज्ञान केंद्र प्रतिदिन सुबह 10:00 बजे से शाम 5:30 बजे तक खुलता है। यह केवल होली और दिवाली के दिन बंद रहता है।

प्रवेश के लिए शुल्क

राष्ट्रीय विज्ञान केंद्र में शुल्क इस प्रकार है :

सामान्य प्रवेश शुल्क

प्रति वयस्क : 60 रुपये

प्रति छात्र : 25 रुपये

ग्रुप (Group) में प्रवेश शुल्क

प्रति व्यक्ति : 50 रुपये

फैंटेसी राइड

प्रति व्यक्ति : 40 रुपये

3D शो टिकट

प्रति वयस्क : 25 रुपये

प्रति व्यक्ति (ग्रुप के लिए) : 20 रुपये

होलोशो प्रवेश शुल्क

प्रति व्यक्ति : 30 रुपये

प्रति व्यक्ति (स्कूल ग्रुप के लिए) : 20 रुपये

राष्ट्रीय विज्ञान केंद्र का पता और फोन नंबर

राष्ट्रीय विज्ञान केंद्र, दिल्ली (National Science Centre, Delhi), भैरों मार्ग, प्रगति मैदान गेट नंबर एक के नजदीक, नई दिल्ली-110001

फोन नंबर : (011) 23371893, 23371945

राष्ट्रीय विज्ञान केंद्र कैसे पहुंचें

राष्ट्रीय विज्ञान केंद्र के सबसे नजदीक प्रगति मैदान (सुप्रीम कोर्ट) मेट्रो स्टेशन है। यहां से केंद्र की दूरी 2.4 किलोमीटर है। विज्ञान केंद्र प्रगति मैदान के गेट नंबर 1 के पास स्थित है। केंद्रीय सचिवालय मेट्रो स्टेशन उतरकर भी आप यहां जा सकते हैं। यहां से केंद्र की दूरी करीब 5 किलोमीटर है। राष्ट्रीय विज्ञान केंद्र तक अपनी गाड़ी, टैक्सी या ऑटो से आसानी से पहुंचा जा सकता है।

आसपास स्थित अन्य प्रमुख स्थल

राष्ट्रीय विज्ञान केंद्र टूर के साथ आप आसपास स्थित कई प्रमुख स्थलों पर भी जा सकते हैं। इन प्रमुख स्थानों में इंडिया गेट, वॉर मेमोरियल, दिल्ली चिड़िया घर, पुराना किला, राष्ट्रीय रेल म्यूजियम, जंतर मंतर आदि शामिल हैं।

3.00 avg. rating (65% score) - 1 vote
0 replies

Leave a Reply

Want to join the discussion?
Feel free to contribute!

Leave a Reply

Your email address will not be published.