खुशखबरी : ‘चीज’ खाने से हृदय रोग का खतरा कम होता है

पिज्जा, पास्ता, बर्गर, पेस्ट्री और सैंडविच खाने वालों के लिए खुशखबरी है। दरअसल यह उन सभी लोगों के लिए राहतभरी खबर है जो ‘चीज’ (Cheese) खाना पसंद करते हैं। यूनिवर्सिटी ऑफ ईस्टर्न फिनलैंड के हाल के एक अध्ययन के अनुसार जो लोग ‘चीज’ (खमीरयुक्त डेयरी पदार्थ) खाते हैं, उनमें हृदय संबंधी बीमारियां होने का खतरा कम होता है। ठीक इसके उलट बिना खमीर वाले डेयरी पदार्थ जैसे दूध आदि का ज्यादा सेवन स्वास्थ्य के लिए नुकसानदेह साबित होता है।

यूनिवर्सिटी ऑफ ईस्टर्न फिनलैंड के शोधकर्ताओं ने 1981 लोगों के खानपान की 20 साल की अवधि का अध्ययन किया। इसमें पाया गया कि जो लोग 3.5 प्रतिशत से कम वसा (Fat) वाले खमीरयुक्त डेयरी पदार्थ का खाने में ज्यादा इस्तेमाल कर रहे थे, उनमें हृदय धमनी रोग का खतरा उन लोगों से 26 प्रतिशत कम पाया गया जो इनका थोड़ा इस्तेमाल कर रहे थे। खमीरयुक्त डेयरी पदार्थ में ‘चीज’, खट्टा दूध, दही आदि शामिल है।

दूध का ज्यादा सेवन नुकसानदेह

फिनलैंड के इस अध्ययन में यह भी सामने आया कि बिना खमीर वाले डेयरी पदार्थ जैसे दूध आदि का ज्यादा सेवन स्वास्थ्य के लिए नुकसानदेह साबित होता है। अगर आप 0.9 लीटर से अधिक रोज दूध पी रहे हैं तो आपको हृदय धमनी रोग का खतरा ज्यादा हो सकता है। हृदय धमनी रोग में सीने में दर्द होता रहता है। अक्सर खाना नहीं पचता है, पसीना आता है और सांस लेने में दिक्कत होती है। ऐसे मरीजों की दिल की धड़कन काफी बढ़ जाती है।

‘चीज’ के बारे में अभी यह है धारणा
‘चीज’ में ज्यादा फैट और सोडियम पाया जाता है। यह बेहतर स्वास्थ्य के लिए कतई उचित नहीं है। लैक्टोज एलर्जी की वजह से भी ‘चीज’ कुछ लोगों के लिए नुकसानदेह साबित होता है।

0.00 avg. rating (0% score) - 0 votes
0 replies

Leave a Reply

Want to join the discussion?
Feel free to contribute!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *